majedar chutkule in hindi: makan malik mewala kirayedar ko....

majedar chutkule in hindi: makan malik mewala kirayedar ko....

मकान मालिक मेवालाल किरायेदार को घर दिखाकर लौट रहे थे,


रास्ते मे एक मरियल सा आदमी देखा यह देखकर


किरायेदार मेवालाल से- वाह साहब अभी तो


आप बोल रहे थे कि यहाँ की वातावरण बहुत अच्छी है


यहाँ कोई बीमार नही होता तो ये ऐसा क्यों है


मेवालाल-अरे बेटा ये तो इस इलाके का


डॉक्टर है जो भुखा तड़प रहा है।

😄😄😄😄😄😄

------------------------------

संता :- "और रसगुल्ला लीजिये ना..!!" 😎😎

मेहमान :- "नहीं शुक्रिया, मैं पहले ही 3-4 खा 

चुका हूँ।.." 🤗🤗

संता :- "खाये तो आपने 9 हैं, पर चलो यहाँ 

कौन गिन रहा है!!..." 🤓🤓


😳😬😁😵😖😜

-------------------------------

मरीज - डॉक्टर साहब, मैं घर जाने के लिए जब भी सीढ़ियां चढ़ता हूं, 

तो रोजाना मेरा सांस फूलने लगती है! 

.

डॉक्टर - मैं कुछ दवाई दे रहा हूं, उन्हें समय पर खाना और 

रोजाना व्यायाम करना। 

.

मरीज - डॉक्टर साहब, फुटबॉल और क्रिकेट तो मैं रोज खेलता हूं! 

.

डॉक्टर - अच्छा... कब और कितनी देर खेलते हो? 

.

मरीज - सुबह और शाम दोनों टाइम जब तक 

फोन की बैटरी चार्ज रहती है...!!!

-------------------------------

पत्नी (पति से) : Suppose करो… . . . . 

अगर मैं आपकी सब बात समझूँ और सारी बातें मानूँ, तो…?

.

.

.

.

पति हँसते हँसते जमीन पर लोट-पोट हो जाता है . . . 

और खुशी से चिल्लाता है: . . . . 

साला मुझसे तो Suppose भी नहीं हो रहा।

😝😝😝😝😝

---------------------------------

सुनो जी, मैंने नए डिटर्जेन्ट से अपना नया सूट धोया और वो छोटा हो गया। अब क्या करूँ ? ”

.

.

पति—” उसी डिटर्जेन्ट से नहा भी ले….फिट आ जाएगा। ”

😜😝😝😝😝

Post a Comment

0 Comments